himabhiabhi
Reported on 12/10/2018

बर्फीले रेगिस्तान में बसे गांव के सभी घर सफेद और मिट्टी के, जानिए क्यों

कुल्लू। बर्फीला रेगिस्तान कहे जाने वाले हिमाचल प्रदेश के लाहुल-स्पीति के एक गांव -25 डिग्री तापमान में मिट्टी के घर लोगों को आज भी गर्माहट दे रहे हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि यह दुनिया का सबसे ऊंचा किब्बर गांव है। समुद्र तल से 4850 मीटर की ऊंचाई पर बसे इस गांव में मिट्टी से बने आशियाने सर्दियों में गर्म और गर्मी के मौसम में ठंडे रहते हैं।

Reported on 11/26/2018

सिरमौर बस हादसा: गिरि नदी के किनारे एक साथ जलीं छह चिताएं

नाहन। जलाल पुल बस हादसा सबसे ज्यादा धारटीधार के लोगों को गहरे जख्म दे गया है। इस बस हादसे में धारटीधार इलाके के 6 लोगों की मौत हुई है। सोमवार को गिरी नदी पर एक ही पंचायत की छह चिताएं जलाई गई। नेहलीधिड़ा पंचायत के जैतक निवासी सत्याराम व उनकी पत्नी भागवंती देवी, सत्याराम की चाची विद्या देवी की मौत से पूरा परिवार सदमे में है। तीनों का सोमवार को गिरि नदी के किनारे अंतिम संस्कार किया गया।

Reported on 11/26/2018

हिमाचल के इस पहाड़ी गांव में आजादी के बाद पहली बार पहुंचेगी बिजली

शिमला। हिमाचल प्रदेश में एशिया के दूसरे सबसे ऊंचे लाहुल स्पीति जिले के हिक्किम गांव में आजादी के बाद पहली बार बिजली पहुंचेगी। समुद्र तल से 4400 मीटर (14 हजार 400 फीट) की ऊंचाई पर बसे इस गांव में नाले के पानी से पनबिजली बनाने का एक प्रोजेक्ट तैयार हुआ है।

Reported on 11/09/2018

लाहुल: सेब की फसलों को नुकसान का मुआवजा मांगते सड़कों पर उतरे किसान

कुल्लू। बर्फबारी से सेब की फसलों को हुए नुकसान का मुआवजा मांगते किसानों ने केलांग में जन चेतना रैली निकाली। ‘लाहौल घाटी किसान मंच’ के बैनर तले निकाली गई इस रैली में किसानों ने लाहुल-स्पीति के लोगों के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए जयराम सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

Reported on 11/08/2018

बीआरओ ने बहाल किया रोहतांग दर्रा, सेना के दर्जनों ट्रक हुए आरपार

कुल्लू। प्रदेश के दुर्गम इलाके लाहुल स्पीति को कुल्लू से जोड़ने वाला रोहतांग दर्रा यातायात के लिए बहाल हो गया है। बीआरओ द्वारा रोहतांग की बहाली से लाहुल में फंसे लोगों व वाहनों मनाली पहुंचाया गया वहीं जो लोग मनाली से लाहुल जाना चाहते थे उन्हें भी आगे रवाना किया गया है।

Reported on 11/04/2018

लाहुल में शीतलहर, चंद्रभागा भी लगी जमने

शिमला। प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फ व निचले इलाकों में पिछले दो दिनों से हुई बर्फबारी के बाद तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गई है। बर्फबारी के बाद शीतलहर के चलते लाहुल में पारा शून्य से नीचे पहुंच गया है। तापमान में आई गिरावट के चलते घाटी की पट्टन वैली के साथ बहने वाली चंद्रभागा भी जमने लगी है। इसके अलावा पिन वैली के मुहाने पर स्थित पवित्र मानतलाई झील का पानी जमने लगा

Reported on 11/02/2018

मौसम ने ली करवट : रोहतांग में आधा फुट बर्फ गिरी, बस सेवा बंद

कुल्लू। प्रदेश में एक बार फिर मौसम ने करवट ली है और प्रदेश के दुर्गम इलाकों में जहां बर्फबारी हुई वहीं मैदानी इलाकों में हल्की बारिश हुई। किन्नौर और लाहौल स्पीति में बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। रोहतांग में आधा फुट व केलंग में तीन इंच ताजा बर्फ़बारी के बाद घाटी में तापमान गिर गया है।

Reported on 10/08/2018

सेब हुए बर्बाद : बर्फ के नीचे कराह रही 15 सालों की मेहनत

शिमला। हिमाचल प्रदेश में हुई भारी बारिश और बर्फबारी ने कुल्लू, मनाली और लाहौल-स्पीति में सेब की फसल को तबाह कर दिया। यहां के बागवानों की 10-15 सालों की मेहनत बर्फ के नीचे कराह रही है। बाढ़, बारिश और बर्फ से इन इलाकों में जो नुकसान हुआ वह तो अलग बल्कि इस बर्फबारी ने बागवानों की कमर तोड़ दी है।

Reported on 10/07/2018

पहाड़ी क्षेत्रों में लुढ़का पारा, जमने लगीं झीलें व नदियां

कुल्लू। स्पीति घाटी सहित प्रदेश के अन्य पहाड़ी क्षेत्रों में पारा शून्य से नीचे पहुंच गया है। इसके चलते झीलें व नदियां जमने शुरू हो गई हैं। तापमान में भारी गिरावट दर्ज की जा रही है। बता दें कि 21 से 23 सितंबर तक स्पीति घाटी में भारी बर्फबारी के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया था।

Reported on 09/04/2018

हिंदू और बौद्व परंपरा से प्रवाहित की वाजपेयी की अस्थियां

केलंग। पूर्व पीएम स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों को मंगलवार को चन्द्रा और भागा के तांदी संगम स्थान पर हिंदू और बौद्व परंपरा अनुसार प्रवाहित किया गया। कृषि, जनजातीय विकास एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. मार्कंडेय के नेतृत्व में वाजपेयी की अस्थियों का कलश शिमला से लाहुल घाटी लाया गया। बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती व सीएम के ओएसडी शिशू भाई धर्मा भी मौजूद

Reported on 03/31/2018

Jogila दर्रा बहाल, Rohtang की बहाली को लगेगा एक हफ्ता

केलांग। Rohtang बहाली को लेकर पहली बार बीआरओ की सुस्ती नजर आई है। एक तरफ जहां बर्फ से लकदक 16 हजार फीट ऊंचा जोजिला दर्रा एक सप्ताह पहले ट्रैफिक के लिए खुल गया है, वहीं रोहतांग बहाल करने में बीआरओ के पसीने छूट गए हैं। इस बार हालांकि Rohtang में कम बर्फबारी हुई है। इसके बाबजूद दर्रा अभी तक खुल नहीं पाया है। राहगीरों की माने तो मनाली की तरफ से बर्फ हटाने के लिए केवल एक डोजर तैनात है, जबकि 70 आरसीसी

Reported on 08/20/2017

अब त्रिलोकीनाथ की परिक्रमा होगी पूरी, सबसे लंबा Steel Truss Bridge जनता को समर्पित

उदयपुर। लाहौल-स्पीति के विधायक रवि ठाकुर ने उदयपुर के निकट चिनाब नदी पर बने हिमाचल के सबसे लंबे स्टील ट्रस ब्रिज का उद्घाटन किया। लगभग छह करोड़ 88 लाख रुपये की लागत से निर्मित लोबर पुल के निर्माण से त्रिलोकीनाथ की परिक्रमा तो पूरी होगी साथ ही इससे त्रिलोकीनाथ से उदयपुर की दूरी काफी कम हो जाएगी। इस अवसर पर विधायक रवि ठाकुर ने कहा कि इस पुल के निर्माण से क्षेत्र के हजारों

Reported on 08/16/2017

रिकांगपिओ के थंगी-लंबर सड़क पर हादसा, 2 की मौत

रिकांगिओ। प्रदेश की सड़कों के मुंह लगा खून अब हर रोज किसी न किसी की जान लेने पर उतारू है। बुधवार को पिओ के मुरंग थाना के तहत आते थंगी-लंबर संपर्क मार्ग पर एक बोलेरो गहरी खाई में लुढ़क गई। बताया जा रहा है कि हादसे में दो युवकों की मौत हो गई है। हालांकि हादसा कैसे हुआ इसके बारे में अभी तक पता नहीं चल पाया है। बहरहाल, दुखद हादसे में जान गंवाने वालों में थंगी के अंकुश व धर्म सिंह शामिल

Reported on 07/28/2017

बड़ी कार्रवाई : एक ASI व 2 हैड कांस्टेबल सहित 18 Police कर्मी सस्पेंड, 4 होमगार्ड भी

केलांग/शिमला। ड्यूटी में कोताही बरतने पर लाहौल स्पीति के एसपी गौरव सिंह ने 22 जवानों को निलंबित कर दिया है। इनमें 18 पुलिस कर्मी और 4 होमगार्ड के जवान शामिल हैं। पुलिस ने इन कर्मियों की कार्यशैली को रिव्यू किया था, जिसके बाद इन पर यह कार्रवाई अमल में लाई गई। सस्पेंड हुए कर्मियों में 1 एएसआई, 2 हैड कांस्टेबल, 15 कांस्टेबल और 4 होमगार्ड के जवान शामिल हैं। यह पुलिस कर्मी कोकसर, दारचा और सरचू

Reported on 05/10/2017

खेलते-खेलते चंद्रा नदी में बह गया मासूम, लापता

केलांग। जनजातीय जिला लाहुल स्पीति की चंद्रभागा नदी में एक बच्चा वह गया है। जानकारी के अनुसार बीआरओ के साथ काम कर रहे ग्रेफ के मजदूरों के बच्चे कोखसर के पास खेल रहे थे कि इस दौरान एक बच्चा अचानक नदी में बह गया। उसे ढूंढने की कोशिश की जा रही है पर अभी तक कुछ अता-पता नहीं चल पाया है।